Dusro ki Madad Karna – दुसरो की मदद करना – Best Motivational Story 2023

यह कहानी है दुसरो की मदद करना – Dusro ki madad karna के बारे में। एक बार की बात है, एक व्यक्ति जिसका नाम राहुल था जो बहुत चतुर और चालाक था। वह हमेशा जीवन में आगे बढ़ने का एक रास्ता ढूंढ़ता था, चाहे उसके लिए किसी को भी ठेस पहुंचानी पड़े।

एक दिन राहुल अपने सबसे अच्छे दोस्त के पास गया, जो उस समय अपनी दुकान में काम कर रहा था। उसे देखकर राहुल बहुत खुश हुआ और उसको गले लगा कर उससे कुछ बातें की।

Dusro ki madad karna

बाद में, राहुल अपने दोस्त की दुकान पर एक बार फिर आया और इस बार राहुल अपने दोस्त की दुकान को अच्छे से देखने लगा। उसने देखा कि उसके दोस्त ने कुछ सामान को गलत जगह पर रखा है जिससे उसकी दुकान की दिखावट खराब हो रही थी।

राहुल ने इस मौके का फायदा उठाते हुए अपने दोस्त से कहा कि वह अपनी दुकान को संभालने में नाकामयाब है और उसे थोड़ा और संभालने की जरूरत है। उसके दुकान के समान सही जगह नहीं रखे हुए है,  जिससे बहुत सारा सामान कस्टमर को दिख ही नहीं पता और इसलिए ही उसकी बिक्री नहीं होती।

अब राहुल का ये रोज का काम हो गया था, वो अपने दोस्त की दुकान पे जाता फिर उसके काम और उसकी दुकान में कमिया निकलता रहता। एक दिन राहुल के दोस्त ने उससे कह दिया, तू रोज कुछ न कुछ कमी निकलता ही रहता है, कभी ये भी तो बता दे की इस कमी को दूर कैसे करू।

अपने दोस्त की बात सुनकर राहुल थोड़ा सोच में पड़ गया, फिर राहुल ने अपने दोस्त को कौन सा सामान कहा रखना है ये बताया। उसने उसे दुकान में बेहतर ढंग से सामान को संभालने के तरीके सिखाए और उसके दुकान के सामने की दिखावट को बढ़ाने के लिए कुछ सुझाव दिए।

धीरे-धीरे, राहुल ने अपने दोस्त को जितनी मदद कर सकता था, कर दी। उसने उसकी दुकान की व्यवस्था को सुधारा, सामान को संभाला, ग्राहकों के साथ अच्छा व्यवहार किया और दुकान की सफाई भी की। और उसके दुकान की बिक्री बढ़ने लगी। अच्छे व्यवहार होने के वजह से रोज और ज्यादा ग्राहक उसके दुकान पे आने लगे।

एक दिन, राहुल के दोस्त ने उसे धन्यवाद दिया क्योंकि वह उसकी मदद से अपनी दुकान को बेहतर बना सका। उसने कहा कि राहुल की मदद के बिना वह इस सफलता तक नहीं पहुंच पाता।(Dusro ki madad karna)

राहुल को यह बात सुनकर खुशी हुई कि वह अपने दोस्त की मदद की। राहुल को यह भी अनुभव हुआ कि दूसरों की मदद करने से उसे खुशियां मिलती हैं। फिर उसके बाद राहुल दुसरो की कमिया निकलने की जगह उस कमी को दूर कैसे करे ये बताने लगा। दुसरो की मदद करके वो पहले से ज्यादा खुश रहने लगा।

इस कहानी से हमें यह सीख मिलती है कि हमें अगर हम किसी की समस्याओं का समाधान करने में सक्षम होते हैं। तो हमें दूसरों की मदद करनी चाहिए। तब हम अपने आप में अधिक खुशी पाते हैं जब हम दूसरों की मदद करते हैं।

दूसरों की मदद करना हमें एक सकारात्मक सोच और आत्मविश्वास भी देता है। जब हम दूसरों की मदद करते हैं, तो हम खुद को एक समाजसेवक के रूप में महसूस करते हैं जो अपने समाज के लिए कुछ अच्छा कर रहे होते है

यह बात भी ध्यान देने वाली है कि दूसरों की मदद करने से हम अपने समाज को भी अधिक अच्छा बनाने में मदद करते हैं। जब हम दूसरों की मदद करते हैं, तो हम अपने समाज में सोच और व्यवहार के लिए एक अच्छा उदाहरण भी सेट करते हैं।

अवलोकन – rshindi.com के द्वारा सुनाई गई दुसरो की मदद करना – Dusro ki madad karna – motivational story in hindi की कहानी कैसी लगी, हमे comment कर के जरूर बताये।

आप हमें Facebook में भी follow कर सकते है।

Leave a Comment